NATIONAL

जवाद तूफान पहुंचने से पहले आंध्र प्रदेश और ओडिशा में रेड एलर्ट जारी

जवाद तूफान के कारण आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है. ओडिशा और आंध्र प्रदेश में रेड एलर्ट जारी किया गया. पीएम मोदी ने लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए अधिकारियों को हर संभव उपाय करने का निर्देश दिया है।

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि जवाद के कारण ओडिशा के पुरी तट पर 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चल सकती है जो 110 किलोमीटर प्रति घंटा भी हो सकती है. इस बीच जेना ने कहा कि सरकार ने जिला अधिकारियों से कहा है कि गंजाम, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा और कटक जिले के नियाली के प्रभावित इलाकों में रहने वाले लोगों को निकाला जाए।

विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने शुक्रवार को बताया था कि चक्रवात बंगाल की खाड़ी से जाने से पहले पुरी जिले के आसपास टकरा सकता है. उन्होंने शनिवार को ट्वीट किया, ‘एक छोटी सी अच्छी खबर है. चक्रवात के पुरी तट पर पहुंचने तक वह कमजोर पड़ सकता है। ‘

मौसम विभाग की ओर से जानकारी दी गई है कि चक्रवात जवाद के धीरे-धीरे कमजोर पड़ने और अगले 12 घंटे में उत्तर की ओर बढ़ने की उम्मीद है और इसके बाद यह उत्तर की तरफ ओडिशा के तट की तरफ गहरे दबाव के क्षेत्र के रूप में पुरी के पास जा सकता है. इसके बाद जवाद के और कमजोर होने और उत्तर-पूर्वोत्तर की तरफ ओडिशा से पश्चिम बंगाल के तट की ओर बढ़ने के आसार हैं. भुवनेश्वर के मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी यू एस दास ने कहा, ‘यह समुद्र में कमजोर पड़ने के बाद गहरे दबाव के रूप में पुरी के तट से टकरा सकता है। ‘

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्‍युंजय महापात्रा ने जानकारी दी है कि आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजियानाग्राम और विशाखापट्टनम में आज बारिश तेज होगी. इसके साथ ही चक्रवात जवाद का असर पश्चिम बंगाल पर भी पड़ेगा. वहां भी आज और कल बारिश का अनुमान है. रविवार को आंध्र प्रदेश में मौसम साफ होने और ओडिशा में बारिश बढ़ने का भी अनुमान है।

Advertisements

Our Channel

Facebook Like