NATIONAL POLITICAL

वानखेड़े पर नवाबमलिक के ट्वीट द्वेषजनित, बांबे हाई कोर्ट ने रोक लगाने से किया इन्‍कार

मुंबई । पिछले कुछ समय से महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक और नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक समीर वानखेड़े के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। पिछले काफी दिनों से नवाब मल‍िक लगभग हर दिन समीर वानखेड़े को लेकर कोई ना कोई खुलासा करते हुए नजर आते हैं। बाम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार को महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक के खिलाफ एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े को निशाना बनाकर कोई सार्वजनिक बयान देने या ट्वीट पोस्ट करने से रोकने के लिए एक व्यापक निषेधाज्ञा लगाने से इन्‍कार कर दिया।

न्यायमूर्ति माधव जामदार ने कहा कि हालांकि, प्रथम दृष्टया समीर वानखेड़े के खिलाफ नवाब मलिक के ट्वीट्स द्वेष और व्यक्तिगत दुश्मनी से प्रेरित थे। न्यायाधीश ने कहा क‍ि चूंकि वानखेड़े एक सरकारी अधिकारी थे और मलिक द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए आरोप एनसीबी जोनल निदेशक के सार्वजनिक कर्तव्यों से संबंधित गतिविधियों से संबंधित थे, इसलिए मंत्री को उनके खिलाफ कोई भी बयान देने से पूरी तरह प्रतिबंधित नहीं किया जा सकता है। हाईकोर्ट ने कहा क‍ि मंत्री को वानखेड़े या उनके परिवार के खिलाफ ‘तथ्यों के उचित सत्यापन’ के बाद ही बयान देना चाहिए। अदालत वानखेड़े के पिता ज्ञानदेव की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें मलिक को बयान देने से रोकने का आग्रह किया गया था।

वानखेड़े के पिता ज्ञानदेव ने इस महीने की शुरुआत में हाईकोर्ट में नवाब मलिक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था, जिसमें अन्य बातों के अलावा, मंत्री को उनके और उनके परिवार के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपमानजनक बयान पोस्ट करने से रोकने की मांग की गई थी। ज्ञानदेव वानखेड़े ने 1.25 करोड़ रुपये का हर्जाना भी मांगा है। समीर वानखेड़े और उनके परिवार ने मंत्री द्वारा लगाए गए सभी आरोपों का बार-बार खंडन किया है।

आज फिर किया नवाब मल‍िक पर हमला
आज नवाब मलिक ने एक बार फिर से वानखेड़े को लेकर ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने एक फोटो शेयर कर दावा किया है कि यह फोटो वानखेड़े के निकाह की है। उन्होंने फोटो के साथ कैप्शन दिया है, ‘निकाह नामा पर साइन करते हुए समीर दाऊद वानखेड़े की तस्वीर।’ इसके साथ उन्होंने समीर वानखेड़े के निकाह नामा की फोटो भी शेयर की है। एक अन्य ट्वीट में मलिक ने लिखा- कबूल है, कबूल है, कबूल है… यह क्या किया तूने समीर दाऊद वानखेड़े।

ज्ञात हो क‍ि नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर आरोप लगाया था कि समीर वास्‍तव में मुस्लिम हैं, लेकिन उन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास करने के ल‍िए फर्जी दस्‍तावेज के आधार पर अनुसूचित जाति (एससी) कैटेगरी में नौकरी हासिल की है। उधर, समीर वानखेड़े के पिता ज्ञानदेव वानखेड़े और उनकी बहन यास्‍मीन नवाब मलिक के खिलाफ उनके, उनके परिवार और उनकी जाति को लेकर कथित तौर पर ‘झूठी एवं अपमानजनक’ टिप्पणी करने के मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज करा चुके हैं।

About the author

ptnews

Add Comment

Click here to post a comment

Advertisements

Our Channel

Facebook Like